Thursday, August 1, 2019

Wheat Grass Benefits (गेंहू जवारे के फायदे)

रोज पिये गेहू के जवारे का रस, शरीर मे होंगे गजब के फायदे

(Drink wheat grass juice daily, the body will have amazing benefits)



गेंहू के जवारे में विटामिन्स और मिनिरल्स का बहुत बढ़िया स्रोत है। इसमे A, B, C, E और K के अलावा एमिनो एसिड्स, कैलोरोफिल और मैग्नीशियम भी पाया जाता है। स्वास्थ्यवर्धक और चिकित्सकीय गुणों से भरपूर गेंहू के जवारे को अंग्रेजी में wheat grass कहते है। यह बहुत से रोगों में लाभ पहुचाता है, जैसे डायबिटीज, कैंसर, त्वचा रोग,मोटापा, अर्थराइटिस,  कब्ज आदि रोगों में लाभ पहुचाता है।
१:- पेट और कब्ज की तकलीफ अगर किसी को रहती है तो वह गेहू के जवारे का रस उपयोग करने से फायदा मिलता है, इसमे अल्कलाइन होता है जिससे पेप्सिक अल्सर, डायरिया और गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल रोगों से जुड़ी बीमारियों में लाभ मिलता है।
         इसीतरह इसमें मैग्नीशियम भी पाया जाता है जो कब्ज और आँतो की तकलीफ में राहत देता है।

Wheat jowar is an excellent source of vitamins and minerals.  Apart from A, B, C, E and K, it is also found in amino acids, calorophyll and magnesium.  Wheat jowar is known in English as wheat grass, which is full of health and healing properties.  It provides benefits in many diseases, such as diabetes, cancer, skin diseases, obesity, arthritis, constipation, etc. diseases.

 1: - If someone is suffering from stomach and constipation, then he gets benefit from using wheat grass juice, it contains alkaline which provides benefits in diseases related to pepsic ulcer, diarrhea and gastrointestinal diseases.

 Similarly, magnesium is also found in it, which relieves constipation and intestinal discomfort.

२ :- अर्थराइटिस की समस्या अगर किसी की हो तो वह गेहू के जवारे के रस में कॉटन भिगो कर अर्थराइटिस वाले जगह पर लगाने से लाभ मिलता है क्योकि इसमे जलन और सूजन कम करने वाले मिनिरल्स पाये जाते है।

2: - If someone has problem of arthritis, then by soaking cotton in wheat grass juice and applying it on the place of arthritis, it is beneficial because it contains minerals that reduce inflammation and inflammation.

३:- एनीमिया गेहू के जवारे में 70% तक क्लोरोफिल पाया जाता है जो शरीर मे खून बढ़ाने में मदद करता है। इसका रस नियमित सेवन करने से एनीमिया की शिकायत दूर हो जाती है।

3: - Anemia, up to 70% chlorophyll is found in wheat millet, which helps in increasing blood in the body.  Anemia is cured by taking its juice regularly.

४:- कैंसर के उपचार में गेहूं के जवारे का रस पीना बहुत ही लाभकारी है क्योंकि इसमे मौजूद क्लोरोफिल रेडिएशन के हानिकारक प्रभावों को कम करने में मदद करता है।

4 : - In the treatment of cancer, drinking wheat millet juice is very beneficial because the chlorophyll present in it helps in reducing the harmful effects of radiation.

५:- गेंहू के जवारे का रस डायबिटीज़ के रोगों में भी फायदा पहुचाता है, यह कार्बोहायड्रेट के अवशोषण में देरी उत्पन्न कर ब्लड शुगर के स्तर को विनियमित करने में मदद करता है। इसप्रकार यह डायबिटीज़ को नियन्त्रित करता है।

5: - Wheatgrass juice is also beneficial in diabetes diseases, it helps in regulating blood sugar levels by delaying the absorption of carbohydrates.  Thus, it controls diabetes.

            उपरोक्त रोगों में फायदा के अलावा यह आँखों की रोशनी बढ़ाने में, बालो को काला करने में,दाँतो की सड़न में और त्वचा को जवान रखने में फायदा पहुचाता है।

Apart from the benefits in the above diseases, it is beneficial in increasing eyesight, darkening hair, decaying teeth and keeping skin young.

सावधानिया:- गेंहू केे जवारे का रस अधिक सेवन से शिर दर्द और उल्टी की शिकायत  हो सकती है , पहले आप थोड़े मात्रा में इसका सेवन करे बाद में मात्रा बढ़ा दे। इसका अधिक सेवन से डायरिया और एलर्जी हो सकती है । आप गेेंहू के जवारे का रस चाय की तरह पिये एक बार मे घुट कर न पिये और आप १५ दिन से ज्यादा न पीयेें। बाद में फिर ७ या १५ दिन बाद फिर सेवन करे।


 Precautions: - Excessive consumption of wheatgrass juice may cause headaches and vomiting, first consume it in small quantities and then increase it later.  Excess intake of it can cause diarrhea and allergies.  You should drink the juice of wheat jowar like tea at a time and you should not drink more than 15 days.  Later, again, drink it again after 4 or 15 days.

3 comments:

General tips